Crime

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में छेड़छाड़ ने अमेरिका में पढ़ने वाली छात्रा सुदीक्षा की जान ले ली ,थाने लाई गईं 16 बुलेट, तलाशे जा रहे मनचले

सुदीक्षा  उम्र में महज 18-19 साल की थी लेकिन उसके सपने बड़े थे। समाज में बदलाव लाने के लिए वह कुछ करना चाहती थी लेकिन मनचलों की कायराना हरकत एक झटके में सब खत्म कर दिया। 12वीं सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में जिले में टॉप करने वाली सुदीक्षा को अमेरिका के बैबसॉन कॉलेज में 3.82 करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप पर दाखिला भी मिल गया. उसने तो पढ़ाई में सब कुछ हासिल कर दिखा दिया लेकिन अफसोस बेटियों की सुरक्षा के लिए लंबे चौड़े दावों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका,यह चिंता कई साल पहले सुदीक्षा ने जाहिर की थी।

सुदीक्षा जब एचसीएल फाउंडेशन के विद्या ज्ञान स्कूल में कक्षा दसवीं की छात्रा थी तो उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश के जिस हिस्से से वह आती हैं, वहां लड़कियों के साथ छेड़खानी सबसे बड़ी समस्या है। यह छेड़खानी लड़कियों के करियर विकास और शिक्षा के आड़े आती है।होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी की मौत के मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. मंगलवार रात ही विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया और सुबह ही क्षेत्र की सभी बुलेट मोटरसाइकिल को थाने लाकर पड़ताल शुरू कर दी है. गौरतलब है कि सुदीक्षा के पिता ने 2 अज्ञात बुलेट सवारों के खिलाफ केस दर्ज कराया है…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button