Punjab-Chandigarh

शहरी प्रधान तेजिंदर मेहता बने पटियाला के लोगो की आवाज

राजिंदरा अस्पताल की वायरल हुई पोस्ट के बाद तेजिंदर मेहता ने सुपरडेंट से की बात

Ajay Verma
Patiala, सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुई राजिंदरा अस्पताल में ओपीडी के देरी से खुलने की पोस्ट पर आप नेता ने तुरंत उक्त पोस्ट का संज्ञान लेते इस मसले की गहनता से जांच करने के आदेश दिए और मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया।
जानकारी अनुसार हरकत में आप के जिला शहरी प्रधान तेजिंदर मेहता ने उक्त पोस्ट के वायरल होते ही तुरंत इस मुद्दे पर पहले फोन पर प्रिंसिपल मेडिकल कालेज से संपर्क किया और ओपीडी की विंडो तुरंत ओपन करवाने की बात कही। जिससे लोगों को मुश्किलों का सामना न करना पड़े। इसके पश्चात मामले की गहराई तक जाते मेहता ने राजिंदरा अस्पताल में विजिट की। जिस पर उन्होंने तीन विंडो को ओपन पाया। जिस पर जानकारी देते मेहता ने कहा कि लोगों से बातचीत दौरान ये पता लगा है कि उनकी विजिट से कुछ समय पहले ही ये विंडो को ओपन करवाया गया है। जिसके बाद उन्होंने इस मामले की जांच पड़ताल करते सुपरडेंट एचएस रेखी से बात की। जिस पर सुपरडेंट ने उन्हें बताया कि स्टाफ शार्टेज कारण काफी समय से तीन विंडो को चलाया जा रहा है। जिस पर मेहता ने उक्त तीन विंडो भी बंद पाए जाने बारे पूछा, तो उन्होंने उक्त स्टाफ के देरी से आने का कारण बताया। जिस पर मेहता ने सुपरडेंट को उक्त स्टाफ पर देरी से आने को लेकर इंक्वायरी बिठाने की बात कही। वहीं एचएस रेखी ने बताया कि लोगों को आम आदमी पार्टी की सरकार से काफी उम्मीदें हैं। अब लोगों का रुझान सरकारी अस्पतालों की ओर अधिक हो गया है और यहां स्टाफ शार्टेज कारण ज्यादा भीड़ होने के चलते पब्लिक को नियंत्रित करना मुश्किल हो रखा है। उन्होंने बताया कि उनके विभिन्न असामियों के लिए 1500 के करीब स्टाफ की जरूरत है। जिसे जल्द हल करवाने की बात कही। मौके पर मेहता ने बताया कि ये प्रस्ताव पहले ही सीएम व हेल्थ मिनिस्टर के ध्यानार्थ है। जिसका समाधान जल्द किया जायेगा, लेकिन जब तक स्टाफ शार्टेज है और जो मौजूदा स्टाफ वर्क कर रहा है वे अपने कार्य में विलंब न करें। जिसके लिए मेहता ने सुपरडेंट से एक सुपरवाइजर की तैनाती अस्पताल में कर उक्त स्टाफ पर नजर व सही ढंग से संचालन चलाने की बात कही। इस मौके रणबीर निक्कू, केशव मौजूद थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button