Punjab-Chandigarh

जगजीत सिंह दर्दी को मिला सर्वोच्च नागरिक सम्मान  पदमश्री

संसदीय सचिवालयों द्वारा श्री दर्दी का किया गया विशेष सम्मान

 पटियाला — बलजीत सिंह कम्बोज
चढ़दीकला पत्र समूह के चेयरमैन श्री जगजीत सिंह दर्दी को भारत सरकार द्वारा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पदमश्री देने के ऐलान होने के बाद अब तक कई प्रतिष्ठित संस्थाओं द्वारा श्री दर्दी का सम्मान किया जा चुका है। गत सायं नई दिल्ली में संसद के दोनों सचिवालयों (लोकसभा व राज्यसभा) में शानदार स्वागत करते हुए श्री दर्दी को विशेष तौर पर सम्मानित किया गया। राज्यसभा सचिवालय में श्री दर्दी को सम्मानित करते हुए उनके द्वारा 1996 से लगातार निभायी जा रही शानदार सेवाओं की भरपूर प्रशंसा की गयी। इस अवसर पर राज्यसभा सचिवालय के निदेशक श्री पवन कुमार, संयुक्त निदेशक श्री पुइश सपर्णा एवं श्री बाल मुकंद महापात्रा के अलावा सर्वश्री राजेश कालड़ा, राजेश शर्मा, अमित आनंद, सुधीर बत्तरा, दिलशाद अहमद, विनोद राय, तरुण कुमार, श्री पांडे एवं पर्थ गुप्ता भी उपस्थित थे। इसी तरह लोकसभा सचिवालय में इसके निदेशक एवं अधिकारियों ने भी श्री दर्दी जी को सम्मानित करते हुए उनके व्यक्तित्व के गुणों की सराहना की। इस मौके लोकसभा सचिवालय के निदेशक श्री एमके शर्मा, उपनिदेशक श्री गणेश एवं सचिवालय के अन्य  अधिकारी मौजूद थे।

इसी तरह नई दिल्ली में ही प्रिंट मीडिया के साथ संबंधित सबसे बड़ी संस्था इंडियन न्यूजपेपर सोसायटी (आईएनएस) की कार्यकारिणी की बैठक में भी श्री जगजीत सिंह दर्दी को पदमश्री अवार्ड के लिए सम्मानित किया गया। इस मौके पर आईएनएस के अध्यक्ष श्री मोहित जैन ने श्री दर्दी द्वारा आईएनएस के कार्यकारिणी सदस्य के तौर पर 30 वर्ष से अधिक समय से निभायी जा रही शानदार सेवाओं की भरपूर सराहना करते हुए कहा कि चढ़दीकला अखबार व चढ़दीकला टाइम टीवी ने विश्वभर में अपनी साख बनायी है जिसके लाखों पाठक व दर्शक हैं। भारत सरकार द्वारा श्री दर्दी को पदमश्री अवार्ड केलिए नामजद करना आईएनएस व इसके तमाम सदस्यों के लिए बेहद ही गौरव की बात है। श्री जगजीत सिंह दर्दी ने इस बैठक में उनको सम्मानित किए जाने पर आईएनएस के समूह पदाधिकारियों एवं सदस्यों का आभार जताया। इस अवसर पर अन्यों के अलावा श्री के. राजा प्रसाद रेड्डी उपाध्यक्ष, श्री अंश कुमार (मातृभूमि) श्री राकेश शर्मा उपाध्यक्ष एवं श्रीमति मेरीपॉल महासचिव भी उपस्थित थे। 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button